पिले पीताम्बर वालेया मैं केहनी आ

पिले पीताम्बर वालेया मैं केहनी आ,
मेरे घर वी आयी मैं लब्दी रेहनी आ,

अजमल तरिया ते पूतना वी तरी,
सदल कसाई दी आ गई वारी,
तू मर्जी दा मालक रहंदा मैं तेरी सेहनी आ,
पिले पीताम्बर वालेया.....

वृदावन आनी आ ता परदे च लुकदा,
तेरे लाराया च ज़िन्दगी ना मुक जावे
तेरे चरणा दी सेवा मंगदी ना होर कुछ लेनी आ
पिले पीताम्बर वालेया......

कुब्जा दे निकले ते भिलनी दे वरदा,
मीरा भाई ना बन बन खड़ा ऐ
मेरे वेहड़े नी औंदा मैं सचिया कहनी आ
पिले पीताम्बर वालेया......

श्री हरी दासी तेरे तरले पौंदी
गली गली जाके तेरे भजन सुनादी
तेरी सिफता करदी मैं जिथे बेहनी आ
पिले पीताम्बर वालेया....
download bhajan lyrics (694 downloads)