उर में पधारो मेरे

उर में पधारो मेरे गजानन उर में पधारो मेरे ,
कर रहे वंदन तुम्हारे गजानन उर में पधारो मेरे,

माता उमा पिता शिव भोले,जाटा से गंग बहावे,
सब देवन में पूजित पहले शिव नन्दन कहलावे,
गजानन  उर में पधारो मेरे , उर में पधारो  मेरे,

एक दंत गजवदन मनोहर,भक्त जनन के प्यारे,
मूषक वाहन कुंडल कानन,गजमुख मन मोरे भावे,
गजानन उर में पधारो मेरे , उर में पधारो मेरे ,

ऋद्धि सिद्धि तेरी चवर डुलावत लडुवन भोग लगावे,
रघुवीर वंदन गावे तेरे चरणों में शीश झुकावे ,
गजानन उर में पधारो मेरे,उर में पधारो मेरे ,

लेख़क -रघुवीर पाण्डेय
Mo:-9555897799
श्रेणी
download bhajan lyrics (135 downloads)