ये गाडी रिंग्स से चाली

यो सारी दुनिया है दुःख दाई ध्यान से सुन लो सारे भाई
याहा अपनों का नही है भरोसा
कही है गड़े कही खाई
एक ही नाम एक ही धाम एक ने मान लो भाई
छोड़ दे इस दुनिया सगरी ने खाटू वाले की नगरी के
ये गाडी रिंग्स से चाली,

खाटू वाले की नगरी में काहे का न घाटा,
सारी चिंता ने कर दो बाय बाय टाटा
इक बार आके देख लो जाके
मेरी बात है साची
छोड़ दे इस दुनिया सगरी ने खाटू वाले की नगरी के
ये गाडी रिंग्स से चाली,

बिन बोले सुन लेता मेरा देखो खाटू वाला बाबा
इक बार तू बाबा से बस जोड़ ले जाके नाता
डूबा जा दुःख में पोंहंच जा सुख में यो मेरी बात है साँची
छोड़ दे इस दुनिया सगरी ने खाटू वाले की नगरी के
ये गाडी रिंग्स से चाली,

रिंग लगे न कोई भी गठरी रंग भी आवे चोखा
खाटू वाले की नगरी में मिले कदे न धोखा
चंग के साथ मिला लो हाथ यो मेरी बात है साँची
छोड़ दे इस दुनिया सगरी ने खाटू वाले की नगरी के
ये गाडी रिंग्स से चाली,
download bhajan lyrics (65 downloads)