केहता है जग ये सारा साईं नाम सब से प्यारा

केहता है जग ये सारा साईं नाम सब से प्यारा,
सब की सुनी सदाए जिसने भी जब पुकारा
केहता है जग ये सारा साईं नाम सब से प्यारा,

जो सुबहो शाम साईं नाम कीर्तन करे
केहते है सदा उसकी साईं झोली भरे
जिसने भी सिर जुकाया दिल से इन्हें मनाया,
हर जंग है वो जीता बाजी कभी न हारा
सब की सुनी सदाए जिसने भी जब पुकारा
केहता है जग ये सारा साईं नाम सब से प्यारा,

साईं के दर पे मुकदर बदलते
किरपा हो तो भगतो पानी के दीये जलते
आया दर पे जो सवाली लौटा नही वो खाली
जिस का नही है कोई साईं बन गए सहारा
सब की सुनी सदाए जिसने भी जब पुकारा
केहता है जग ये सारा साईं नाम सब से प्यारा,

मेरे जीबा पे साईं तेरा नाम रहे
तेरी पूजा करू ये काम आठो याम रहे
येही तुझसे मेरी चाहत मांगे मृतुजं राहत
मेरे भी दिन सवारों
ज्योति के दिन सवारों तूने सब का है सवारा,
सब की सुनी सदाए जिसने भी जब पुकारा
केहता है जग ये सारा साईं नाम सब से प्यारा,
श्रेणी