गिरधर गोपाल तेरी बात निराली

गिरधर गोपाल तेरी बात निराली
तेरी बात निराली ओ  तेरी बात निराली

गिरधर गोपाल बंसी वाले  तेरी बात निराली।
ओ तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।

तुम करने वाले हो तुम देने वाले हो
तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।

गिरधर गोपाल   गिरधर गोपाल  
गिरधर गोपाल तेरी बात निराली।

ओ तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।
तेरा तुझ को अर्पण तुझ को अर्पण

तेरे गुण क्या  गाउ लीला धारी
हरे कृष्णा, कृष्णा, कृष्णा

मनमोहन मेरे कृष्ण मुरारी
कर्ता भी आप हो हर्ता भी आप हो।

तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।  
गिरधर गोपाल बंसी वाले  तेरी बात निराली।

प्रभु जी  तेरी बात निराली।  तेरी बात निराली।
कृपा निधान, तुम कृपा कर दो

हम सब ठहरे, दीन भिखारी
राधा के मोहन ,मीरा के मोहन

मीरा के मोहन,मेरा मन हर लो।
हर मन तिप्त आधाही

कहने को तुम  हो सब के ठाकुर
मेरी भी पेज,सवारों ,

भक्तो  भाव हो दासो का चाव  हो
तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।
       
गिरधर गोपाल बंसी वाले  तेरी बात निराली।
कवल नेन श्याम सलोने ,मोर मुकुट बंसी वाले

तेरा शुक्रिया हरपल तुमने ,मेरे काज सवारे
तुम करने वाले हो सब  देने वाले

तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।  
गिरधर गोपाल बंसी वाले  तेरी बात निराली।
ओ तेरी बात निराली। ओ  तेरी बात निराली।

स्वर -संत त्रिलोचन दर्शन दास जी
प्रभु जी का दास शिवा
श्रेणी
download bhajan lyrics (155 downloads)