माह्पे कुलदेवी की किरपा होई फुले पले परिवार

माह्पे कुलदेवी की किरपा होई फुले पले परिवार
मैया की किरपा से माहरो भरे रवे भण्डार,

जब कोई विपदा सिर पे आवे मनडो ना गबरावे जी ,
सोंप दई मैया के हाथो नैया की पतवार
माह्पे कुलदेवी की किरपा होई फुले पले परिवार

अपनी चुनडी की छैया में हर दम राखे माने जी ,
म्हारो तो म्हारी मैया पे पुरो दारमदार
माह्पे कुलदेवी की किरपा होई फुले पले परिवार

सब के वस् की बात नही है कौन ईतनी परवाह करे
माहरे घर को घ्यान में राखे बन एक पेहरे दार,
माह्पे कुलदेवी की किरपा होई फुले पले परिवार

कहे पवन के करे भरोसो जो अपनी कुल देवी के
सोने चांदी धन दोलत की खूब रहे भरमार
माह्पे कुलदेवी की किरपा होई फुले पले परिवार