रास रचाए नन्द गोपाल गोपियाँ संग वृंदावन में

रास रचाए नन्द गोपाल गोपियाँ संग वृंदावन में,
रास रचाए नन्द गोपाल राधा संग वृन्दावन में
गोपियाँ संग वृंदावन में राधा संग वृंदावन में
मुरली भजाये मधुर गोपाल गोपियाँ संग वृंदावन में

कभी श्याम मधुर मुस्काये कभी राधा को जलाए ,
की गईया चराए नन्द लाल गोकलन संग वृंदावन में
रास रचाए नन्द गोपाल गोपियाँ संग वृंदावन में,

पनघट पे कभी ले जाए झुला कदम की डार झुलाए,
की मटकी फोड़े नन्द गोपल वृंदावन की गलियां में
गणेश बताये कैसे हाल वृंदावन की गलियां में
रास रचाए नन्द गोपाल गोपियाँ संग वृंदावन में,
श्रेणी
download bhajan lyrics (335 downloads)