मैं हरियाणे का जाट बाबा

मैं कदका तनै बुलाऊ, मैं कदका तनै बुलाऊ
मैं हरियाणे का जाट बाबा कदका तनै बुलाऊ

इब तावल करकै आ बाबा ना ज्यादा देर लगा बाबा
मैं सादा भोला माणस सु मनै ज्यादा ना तरसा बाबा
तेरी कदका देखु बाट बाबा एकबै तनै बुलाऊ

नैन छोटा मोटा जाट नहीं मेरै किसे बात की आट नहीं
बस एकबै घर नै अजाइये तेरा जी चाहवै वो खाजाइये
मेरै सब बाता के ठाठ बाबा एकबै तनै बुलाऊ

चौधर मैं पूरा हाथ मेरा बाबा चाहिए बस साथ तेरा
मेरै कई कई गाडी चल री सै कती लाई आग नु लगरी सै
मेरै किल्ले 560 बाबा एकबै तनै बुलाऊ

मैं माणस ठोर ठिकाणे का रहनआला सु हरियाणे का
और शहर भिवाणी घर मेरा करू काम मैं भजन बनाने का
मैं नहीं किसे तै घाट बाबा एकबै तनै बुलाऊ