हे जगदम्बे मात भवानी

हे जगदम्बे मात भवानी,
तेरी महिमा सब ने जानी
हे जगदम्बे मात भवानी

तीनो लोक मे डंका भाजे सिंह चडी माँ रन में गाजे
खडक खप्पर जब हाथ में साजे
हे जगदम्बे मात भवानी

देवन के सब काज सवारे,
त्राहि माह जब देव पुकारे हाथ जोड़ सब नाम उचारे  
हे जगदम्बे मात भवानी

जब भगतन पे विपता आवे माता काली तब रूप दिखावे
और भगतन के पाप मिटावे,पाप मिटा के संताप मिटावे
हे जगदम्बे मात भवानी