चरना विच रखेया इ

चरना विच रखेया इ चरना विच रुल जावा
जो किते मेरे ते उपकार न भूल जावा

असी दर दर रुल्दे सा
तुसा गल नाल लाया इ,दर्शन नु तरसदे सा अज दर्श दिखया इ,
तेरी दात नु पा कर के दाता न मैं भूल जावा,
चरना विच रखेया इ चरना विच रुल जावा

तुसी मान निमानेया दे दुखियां दे सहारे ओ
असी पल पल भूल जांदे
तुसी बक्शन हारे ओ
तेरे कीमती वचना तो जींद जान मैं सब वारा ,
चरना विच रखेया इ चरना विच रुल जावा

असी जन्मा तो सुते पये सा तुसा आन जगाया इ,
इस जग विच आ कर के सानु नाम जपाया इ,
तेरी हर इक रहमत दा दाता किवे मूल पावा,
चरना विच रखेया इ चरना विच रुल जावा
श्रेणी
download bhajan lyrics (44 downloads)