राम जी का करते गुणगान है

राम जी का करते गुणगान है हनुमान जैसा कोई नही कोई नही
भगतो में सबसे महान है,
हनुमान जैसा कोई नही कोई नही,
राम जी का करते गुणगान है हनुमान जैसा कोई नही कोई नही

तन पर तेल सिंदूर लगाये राम सिया को मन में वसाए
लाल लंगोटी पहचान है,
हनुमान जैसा कोई नही कोई नही,
राम जी का करते गुणगान है हनुमान जैसा कोई नही कोई नही

हाथ गधा लिए असुरो को मारे,
संतो को संकट से उबारे
जग में न ऐसा बलवान है
हनुमान जैसा कोई नही कोई नही,
राम जी का करते गुणगान है हनुमान जैसा कोई नही कोई नही

लांग समुन्दर लंका जलाए
लंका से सिया माँ की सुध लाये
तीनो लोक करते यश गान है
हनुमान जैसा कोई नही कोई नही,
राम जी का करते गुणगान है हनुमान जैसा कोई नही कोई नही
download bhajan lyrics (135 downloads)