जय जय बजरंग बली करो सब की बली

मुझे आस न थी प्रभु जिनकी कभी तेरे दर ते मुझे खुशिया मिली,
मेरी हर इक विपदा टली,
जय जय बजरंग बली करो सब की बली

दिन रात नाम तेरा जपता हु
बस तुम पे भरोसा रखता हु,
तेरी किरपा से ही राम रसिया मुझे इज्जत की रोटी मिली
जय जय बजरंग बली करो सब की बली

मुझे जब से तुम्हारा दुलार मिला मेरे घर में ख़ुशी का भंडार हुआ
तेरे होते हुए मेरे परिवार को कमी किस चीज की है खली
जय जय बजरंग बली करो सब की बली