भगतो ने मिल कर माँ की ज्योत जगाइ है

भगतो ने मिल कर माँ की ज्योत जगाइ है
नवरातो में माँ दर्शन देने आई है

नो दिन के मेले न होते न होते नो राते
दुनिया भर के भगत बताओ कहा मांग ने जाते
होती है याहा नवरातो में सुनवाई है
नवरातो में माँ दर्शन देने आई है

सुनी सुनाई बात को सची अब हम ने है माना
यही मिला आखिर में आकर हम को सही ठिकाना
हो जाती याहा हर चीज की बरपाई है
नवरातो में माँ दर्शन देने आई है

धरती जब तक बनी रहेगी रहेगे चंदा तारे,
नवराते भी घर घर होंगे गूंजे गे जयकारे
केहता पवन कलयुग की यही बरपाई है
नवरातो में माँ दर्शन देने आई है
download bhajan lyrics (17 downloads)