मन को भाये है दो नाम

मन को भाये है दो नाम चाहे कृष्ण कहो या राम
बोलो राम राम बोलो श्याम श्याम श्याम
मन को भाये है दो नाम चाहे कृष्ण कहो या राम

सुर दास के आँख के अंजन तुलसी के माथे का चन्दन
गीता में श्री कृष्ण समाये रामायण में राम
बोलो राम राम बोलो श्याम श्याम श्याम

मुख के माँ को विशव दिखाए जग को रघुकुल
रावण को श्री राम ने मारा कंस को मारे श्याम
बोलो राम राम बोलो श्याम श्याम श्याम

मीरा के प्रभु गिरधर नागर शबरी अह्लेया के सुख सागर
सीता पति राधा के नटवर द्रोपती के घनश्याम
बोलो राम राम बोलो श्याम श्याम श्याम
श्रेणी
download bhajan lyrics (37 downloads)