शिव मंदिर में दीप जला के

शिव मंदिर में दीप जला के करलो मन उजियारा,
भक्तो करलो मन उजियारा,
शिव चरणों में अर्पण करदो,
अपना जीवन सारा जीवन सारा,
करलो मन उजियारा,

धन तू चीज है आणि जानी मोह करो न धन का,
त्रिपुरारी की शरण में आओ चैन मिले जीवन का,
काम आये जो हर संकट में नाम वही है प्यारा,
है प्यारा भगतो शिव का नाम है प्यारा,

भोर भी होगी क्यों डरते हो दुःख की रातो से,
शिव जी तो है बड़े दयालु देंगे दोनों हाथो से,
जटा से निकली गंगा में है शीतल सुख धारा,
शिव का नाम है प्यारा

डग मग नैया ढोल रही है पवन का तेज है बहाओ,
देख के उची उची लहरें काहे तुम गबराओ,
शिव सागर में जो में उतरा शिव ने पार उतारा,
शिव मंदिर में दीप जला के करलो मन उजियारा,
श्रेणी