जादू भरी है वनवारी

जादू भरी है वनवारी श्याम मुरली तुम्हारी,
श्याम मुरली तुम्हारी श्याम मुरली तुम्हारी,
जादू भरी है वनवारी श्याम मुरली तुम्हारी,

लुटे चैन मेरी नंदीया उडाये
जब जब तू इसे अधर लगाये,
जादू में रेहना सारी,ओ बांके बिहारी,
जादू भरी है वनवारी श्याम मुरली तुम्हारी,

संग रहे तुम्हरे सदा सांवरियां,
वैरण बई कान्हा तुम्हारी मुरलियां,
बहुत ही तुम को प्यारी,
श्याम मुरली तुम्हारी,
जादू भरी है वनवारी श्याम मुरली तुम्हारी,

जा रे ओ नटखट तोसे न बोलू,
सुन के बांसुरियां कब हु न डोलू,
जाओ हटो दूंगी गाली ओ बनके बिहारी,
जादू भरी है वनवारी श्याम मुरली तुम्हारी,


श्रेणी