ये मटकी टूट जावेगी

ये मटकी टूट जावेगी मात मेरी छोमे आवेगी,
मटकी और ले आऊ तने दिल जान दे जाऊ,

मने जो देर लगाई आज मेरा हो जाये भाई नाराज,
बाप ने मेरे शिखावे गी मात मेरी छोमे आवेगी,
ये मटकी टूट जावेगी मात मेरी छोमे आवेगी,

ये मटकी तार तले धर दे यार न सोच करा करदे,
बाप तेरे से न गबराऊ तने दिल जान दे जाऊ,
मटकी और ले आऊ तने दिल जान दे जाऊ,

जान दे जी गबरावे से क्यों घर में वार करावे से,
वे सो सो बात बनावेगी मात मेरी छोमे आवेगी,
ये मटकी टूट जावेगी मात मेरी छोमे आवेगी,

थारी क्तयों करे आज थकान मैं देखू कितने दिन का बात,
रोज मैं तेरे घर के गेडे लाऊ तने दिल जान दे जाऊ,
मटकी और ले आऊ तने दिल जान दे जाऊ,

मान जे नीरज कर ले गोर रे होजा चोदर दे के शोर,
घनी मने धमकावे गी मात मेरी छोमे आवेगी,
ये मटकी टूट जावेगी मात मेरी छोमे आवेगी,

यो ला रहा शिशरेआला आज कोलभिये का यो चेला,
मैं अपने साथ ले जाऊ तने रे दिल जान ले जाऊ
मटकी और ले आऊ तने दिल जान दे जाऊ,
श्रेणी