चलो साथीड़ा आपा हरिगुण गावा

चलो साथीड़ा आपा हरिगुण गावा
कलयुग में सतयुग लेयावा आपा हरिगुण गावा
चलो साथीड़ा आपा हरिगुण गावा

रूठे बाई बंदु चाहे रूठो जग सारा रे ,
देखो भाया रूठे नाही प्रभु जी हमारा है,
जाकी दया सु भाव तर जावा,
चलो साथीड़ा आपा हरिगुण गावा

आड्सी पढ़ोसी ने भी संग लेता चालो जी ,
वैरी भी हॉवे तो भाया गले से लगा लो जी
हिल मिल चालो सो धना सुख पावा,
आपा हरिगुण गावा
चलो साथीड़ा आपा हरिगुण गावा

गली रे गली में राम धुन लग जावे रे
देखो खेड तहिया सतयुग नही आवे रे,
भवर जगत में ना फिर आवा,आपा हरिगुण गावा
चलो साथीड़ा आपा हरिगुण गावा

श्रेणी
download bhajan lyrics (30 downloads)