सतगुरु प्यारे

कोई भी ओकड बचेया नेड़े औन न दिंदे जी
नाम दा गेहना मन अपने चो लौंन न दिंदे जी
नाल नाल चलदे ने राह भटकाऊन ना दिंदे जी,
सतगुरु प्यारे सतगुरु प्यारे


किसे दापका वेख नही कचा ढाई दा,
गुरा ने द्सेया सदा वंड के खाई दा
वेस्म्जा दे मन्दिर अंदर ओह सोची पौंदे ने,
सतनाम ही सतनाम दा जाप करौंदे ने ,
अने ताहि सुजा के गूंगे बोलन लौंदे ने
सतगुरु प्यारे सतगुरु प्यारे
download bhajan lyrics (21 downloads)