अज नच्चणा ऐ सारी रात गल पाके चुन्नियाँ दातिए

तेरे दर उत्ते गिद्दा अज पाणा, तैनू नच नच मैया जी मनाना
तेरे ना दा जोगी बण जाना छड़ सारी दुनियाँ दातिए
अज नच्चणा ऐ सारी रात नच्चणा गल पाके चुन्नियाँ दातिए

१ तेरी भक्ति दा चढ़ेया ऐ रंग माँ, अज बन जाना मस्त मलंग माँ
 रेहमता दा मींह बरसा दे, तेरे बच्चया दी इक एहो मंग माँ
 की माँ तेनु दस्सा तेरे ओन दी ख़ुशी ऐ सानु किन्निया दातिए
 अज नच्चणा...

२ अज घर साहड़े होया जगराता आई वेहड़े साहड़े शेरांवाली माता
 नाले भगतां ने फुल बरसाए सोहणा मैया जी दा भवन सजाता
 सारे पासे जग विच सिफ़तां तेरियां हुंदिया दातिए
 अज नच्चणा...

३ असी पैरां बन्न लये घुंघरू बण भगत ध्यानु अज नच्चणा
 सारी रात अज भंगड़े ने पाणे नइयो पैर धरती ते रखणा
 राम गावे भेंटा तेरी रँगे वीर ने एह लिखियाँ दातिए
 अज नच्चणा...

Uploaded By : जगदीश अन्ज़ान नीलोखेड़ी करनाल 9896249588
download bhajan lyrics (391 downloads)