तेरा शेर मेरे घर आया

पंज कंजका दे बाद नि माये पहला लेंकड़ा पाया,
तेरा शेर मेरे घर आया,

हर वारि मैं रखा नवराते माँ हर वारि कंजका बिठावा,
सचे मुह नाल करा आरती तेनु भोग लगावा,
मेरे उते हो गई माता तेरे छत्रर दी छाया,
तेरा शेर मेरे घर आया,

दुनिया दे हर मंदिर विच माँ जाके तरले पाए,
दान दक्ष्ना की रखी ते माँ कीने थेड़े खाए,
तेरे भवन तो मिलिया मुरादा तू एह बूटा लाया,
तेरा शेर मेरे घर आया,

दया दी दृष्टि मेरे उते किती मेहरा वाली,
इस बछड़े नु तत्ती हवा ना लगे करी रखवाली,
अन्ध्यारे विच महारानी ने प्यारा दीप जलाया.
तेरा शेर मेरे घर आया,
download bhajan lyrics (21 downloads)