सैयां माफ़ करी

ना मैं अमल कमावा ना मैं फर्ज निभावा,
पल गुण कोई न जे मैं सोचा शरमावा,
तेरी शान उचेरी ते मैं मिटिया दी ढेरी,
सुन अर्जी तू मेरी,
सैयां माफ़ करी,मेहर करा इन्साफ करी,
बस माफ़ करी

एहने दुःख ने इको दुःख नाल मर जावा मैं,
नजर करे ते डुबदी डुबदी तर जावा मैं,
की करा मैं कोई राह नजर ना आवे मैनु,
तेरे बाजो सैया कौन बचावे मैनु,
मेरे चार चुफेरे होये दुखा दे हनेरे हूँ करदे सवेरे ,
सैयां माफ़ करी,मेहर करा इन्साफ करी,
बस माफ़ करी

माफ़ करी वे सैयां बोल जे मण्डा बोला,
शान च तेरी दस किवे मैं मुख नु खोला,
कर दे दूर बलावा शिरडी वाले साइयाँ,
भूल के दुनिया सारी हूँ तेरे नाल लाइयाँ,
जींद दुःख दुःख रोइ होर अर्ज न कोई,
जेहड़ी भूल मेतो होइ सैयां माफ़ करी,मेहर करा इन्साफ करी,
बस माफ़ करी
श्रेणी
download bhajan lyrics (48 downloads)