मैं पतंग तेरे हथ डोर है

तेरे हथा दा खडोना हां दतेया,
जिहवे मर्जी तू मैनु नचाई जा
मैं पतंग तेरे हथ डोर है,
भावे कटदी न अपनी उड़ाई जा,
तेरे हथा दा खडोना हां दतेया,

जद तक दिल यह धड़क दा है,
जोड़ी रखा तेरे नाल तारा मैं,
भुला विच भूल मेरे तो होइ जावे माफ़ करि एहो दाता अर्ज गुजरा मैं,
है पुनीत भी ता तेरे ते भरोसे ते मीह रेहमता दा दाता वर्साई जा,
मैं पतंग तेरे हथ डोर है,
भावे कटदी न अपनी उड़ाई जा,
तेरे हथा दा खडोना हां दतेया,

मेहरा नाल तेरियां ही जिंदगी मिली है,
मिलिया है एह सावा उधारियां,
तेरे ही भरोसे मैं ता तेरे दिते खभा नाल मारदा हां लामिया उड़ारिया,
मैं ता तेरी ही रजा दे विच राजी हां,अखि हंजू दे या मैनु तू हसाई जा,
मैं पतंग तेरे हथ डोर है,
भावे कटदी न अपनी उड़ाई जा,
तेरे हथा दा खडोना हां दतेया,

मेरे किते की होना करदा है सब तू ही,
मिल जांदा मैनु यश मान है,
मैं हां सेवा दार तेरे दर दा भिखारी एहो मेरे जग च पहचान ऐ,
पाके मेरे गुनाह उते पर्दा मेरे एबा नु दतेया लुकाई जा,
मैं पतंग तेरे हथ डोर है,
भावे कटदी न अपनी उड़ाई जा,
तेरे हथा दा खडोना हां दतेया,

जिंदगी दी रहा विच ठोकर ये खावा दिग दे नु आप लाई संभाल तू,
चंगा मादा जैसा भी हां लाल आपे मेरा रख ली ख़याल तू,
एहो अर्जी है दाता तेरे दास दी बाहो फड़ मैनु सीधे रहे पाई जा,
मैं पतंग तेरे हथ डोर है,
भावे कटदी न अपनी उड़ाई जा,
तेरे हथा दा खडोना हां दतेया,
download bhajan lyrics (55 downloads)