गुफा दे उते चलो चलिए

जय गुफा वाले नाथ दी मैं बोल के,
पाइया जोगी तो मुरदा दिल खोल के,
पूरा किता हर जिंगदी दी लोड नु,
भेटा जोगी दी ऊंची ऊंची बोल के,
गुफा दे उते चलो चलिए,
बैठा नाथ यह गुफा दे बूहे खोल के ,
गुफा दे उते पेन भंगड़े देखे नाथ भी
गुफा दे बूहे खोल के ,
गुफा दे उते पेन बोलियां देखे नाथ भी गुफा दे बूहे खोल के ,

बड़ी लग दी प्यारी गुफा नाथ दी लाल झंडे गुफा दे बड़े सजदे ,
सदा जिंदगी च मौजा लूट दे जेहड़े जोगी दे भरोसा सदा रखदे,
मजा वखरा है अमृत वाणी दा बड़ा देख लिया जिंदगी नु रोल के
गुफा दे उते चलो चलिए,....

फूल किरपा है गुफा वाले नाथ दी कारा कोठिया ते द्वितीय ने गड्डियां,
हूँ मंगदे ने मेरे कोलो माफियां माडे टाइम विच गाला जिह्ना कड़ियाँ
मैनु मेरे जोगी उते बड़ा मान  है बंद ताले किस्मत वाले खोलते,
गुफा दे उते चलो चलिए,

असि नौकरी जोगी दी करदे कर दा मुरादा पुरिया ताहियो नच नच पोडियां चढ़ दे
झंडे है सजा के गोटे नाल पैर पैर ते जोगी दी जय करदे,
अश्वनी लुधियाने वाला भी बने नौकर जोगी दे दर दे,
गुफा दे उते चलो चलिए,
download bhajan lyrics (24 downloads)