भूत पिशात निकट नहीं आता

भूत पिशात निकट नहीं आता,
महावीर का जो नाम सुनाता,
पटक के शत्रु को मारने वाला,

रोग सोक कभी पास ना आये,
हनुमान जो गधा गुमाये,

जाके हिरदये श्री राम विराजे
शत्रु देख उसे भय से कांपे,

हिन्द का गौरव राम भगवन
बजरंग दल की शान हनुमान,
download bhajan lyrics (224 downloads)