जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा

जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा,
तेरी बागी पहलाँ पांदा,
तेनू नच्च के वखान्दा,
हो तेरे रज्ज-रज्ज दर्शन पांदा
जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा,

छम-छम नचदा तेरे वेढे,
हर दम रहन्दा तेरे नेढे,
जै मैं होन्दा सावरे फुल तेरे बागाँ दा..
तेरी माला विच्च लग जान्दा,
तेरे अंग-संग मुस्कान्दा,
हो.. तेरे रज्ज-रज्ज दर्शन पांदा,
जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा...

तेरे चरणाँ तो बल्लिय्हारी,
वार देवाँ मैं खुशबु सारी,
जै मैं होन्दा सावरे बौढ तेरे मन्दिराँ दा,
झुले सखिया नू झुलान्दा,
अपनी छाँ दे विच्च बैठान्दा,
तेरे रज्ज-रज्ज दर्शन पांदा,
जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा,

आन्दे भगत श्याम तेरे प्यारे,
रज्ज-रज्ज लेन्दे तेरे नजारे,
जै मैं होन्दा सावरे पत्थर तेरे मंदरा दा
चरणी भगताँ दे लग जान्दा,
तेरी जय-जय कार बुलन्दा,
तेरे रज्ज-रज्ज दर्शन पांदा,
जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा

भगत तेरे माँ आँ दे जाँदे,
दाती तेरा नाम ध्याँदे,
जै मैं होन्दा सावरे नीर तैरी यमुना दा,
सब दे पाप मैं झौली पाँदा,
चंचल मन निर्मल हो जाँदा,
तेरे रज्ज-रज्ज दर्शन पांदा,
जै मैं होन्दा सावरे मौर तेरे मथुरा दा,
श्रेणी
download bhajan lyrics (60 downloads)