देवों के देव महादेव

देवों के देव महादेव हैं महान,
कैलाश वासी धुँनी रमाऐं,
गले में सर्प और हैं मुंडमाल हैं मुंडमाल,
जय भोले नाथ.,
देवों कू देव महादेव हैं महान...

कंठ में अपने हो विष धारे,
करूणा के ये अवतार हैं,
पीते हो भोले भंगियाँ के प्याले,
तन में भस्मी लगाऐं हैं,
नागेंद्रधारी...प्रलयनकारी
मेरे भोले बाबा ,तुम हो बड़े महान..हो बड़े महान...
जय भोले नाथ....
देवों के देव महादेव हैं..महान...

त्रिशूल ,डमरूँ हाथ विराजे,
करूणा के अवतार हैं।
भाल चंद्रमा माथे में साँजे,
शीश गंगे बहाऐं हैं।
त्रिनेत्रधारी...कामक्रोधहारी...
नाथों के नाथ...भोले नाथ हैं महान...नाथ हैं महान
जय भोले नाथ...
देवों के देव महादेव..हैं महान...

तुम तो हो स्वामी औगढ़दानी,
महिमा तुम्हारी अपार हैं....
देव दानव पूँजे हैं तुमको,
कालों के महाकाल हैं..
भूँत- प्रेत भारी, नंदी की सँवारी..
बाघम्बर धारी महादेव हैं महान...देव हैं महान...
देवों के देव महादेव हैं महान....

कैलाश वाशी धुँनी रमाऐं...
गले में सर्प और हैं मुंडमाल...हैं मुंडमाल...
देवों के देव महादेव हैं महान...
श्रेणी
download bhajan lyrics (41 downloads)