आये रुत या बसंत होली खेला संवारा

आयो फागणियो रंगीलो होली खेला संवारा,
आये रुत या बसंत होली खेला संवारा,

होली खेलन को कान्हा बरसाने आना,
हरी नीली लाल पीली अभिर लगाना,
राधा आई है छेबीली रंग डारो संवारा,
आये रुत या बसंत होली खेला संवारा,

होरी खेलन को कान्हा मथुरा में आना,
मथुरा नगरीय में फाग मचाना,
ब्रिज मंगल में मची है धूम आओ संवारा,
आये रुत या बसंत होली खेला संवारा,

होरी खेलन को कान्हा गोकुल में आना,
सारे गोप गोपियों के रंग लगाना,
भर लाओ जी पिचकारी रंग डारो संवारा,
आये रुत या बसंत होली खेला संवारा,

होरी खेलन को कान्हा गोटा में आना,
मथुरा दीश नगरी में धूम मचाना,
रवि जोगी संग सारे प्रेमी आये संवारा,
आये रुत या बसंत होली खेला संवारा,
श्रेणी
download bhajan lyrics (58 downloads)