हम गोरियावाली जीण माँ के लाडले है

माँ भंवरावाली के हम आँचल में पले हैं - २
हम गोरियावाली जीण माँ के लाडले है - २

{ मिला बिछौना पलकों का झूला तेरी बाहों में ,
हम तेरी आँखों के तारें,रहते तेरी नज़रों में } - २
थाम के ऊँगली माँ , तेरे हम संग चले हैं ,
हम गोरियावाली जीण माँ के लाडले है |

{ जब भी कोई संकट आया ,जब भी मुसीबत आयी ,
हम भगतों के सर पे मईया तेरी चूनड़ लहराई } - २
हमे चिंता कैसी , तेरी चुनड़ी के तले हैं ,
हम गोरियावाली जीण माँ के लाडले है |

{ स्वर्ग मुझे क्या करना मईया ,मोक्ष मुझे क्या करना,
''सौरभ मधुकर'' जन्मों तक चाहूँ चरणों में रहना } - २
हम है लाल तेरे , तेरे ही रंग में ढले है ,
हम गोरियावाली जीण माँ के लाडले है |

माँ भंवरावली के हम आँचल में पले हैं - २
हम गोरियावाली जीण माँ के लाडले है - २

भजन गायक - सौरभ मधुकर
भजन रचयिता - मधुकर मिश्र
संपर्क - 9831258090
download bhajan lyrics (372 downloads)