मेला फागुन का आया है हमे श्याम ने बुलाया है

मेला फागुन का आया है हमे श्याम ने बुलाया है,
लेके हाथो में निशान बोलो  जय जय श्री श्याम,
रंग भगतो पे छाया है हमे श्याम ने भुलाया है,
मेला फागुन का आया है हमे श्याम ने बुलाया है,

जयपुर जाएगे पहले हम फिर रिंग्स को जायगे,
जय जय श्री श्याम बोलके यहाँ निशान उठाएंगे,
करे न रस्ते में आराम चले सीधे खाटू धाम,
श्याम दिल में समाया है,हमे श्याम ने भुलाया है,
मेला फागुन का आया है हमे श्याम ने बुलाया है,

कलयुग का दातार संवारा सब की झोली भरता है ,
श्याम धनि अपने भगतो के वारे न्यारे करता है,
झाड़ा मोरछड़ी का लावे संकट पल में दूर भगावे,
जिस जिस को लगाया है हमे श्याम ने भुलाया है,
मेला फागुन का आया है हमे श्याम ने बुलाया है,

खीर चूरमे को भोग बना कर श्याम धनि को लगायगे ,
खाटू वाला चख ले माहरो फिर पीछे हम खायेगे,
लखा करता तुझे परनाम बनादे बिगड़े सारे काम
गिरी सिर को झुकाया है हमे श्याम ने भुलाया है,
मेला फागुन का आया है हमे श्याम ने बुलाया है,
download bhajan lyrics (177 downloads)