बाहर आ जाओ बांके बिहारी होली होगी हमारी तुम्हारी

बाहर आ जाओ बांके बिहारी,
होली होगी हमारी तुम्हारी ,

तेरी माथे पे चुनरी उड़ाऊंगी
गोटेदार तेह लहंगा पहनाऊंगी
तोह नर से बनादुंगी नारी
बाहर आ जाओ बांके बिहारी

तेरे गालो पे गुलाल लगाऊंगी
आगे पीछे का बदला चुकाऊंगी
तोहे भाग ना मदन मुरारी
बाहर आ जाओ बांके बिहारी

तेरे संग में तो खेलूंगी होली
आयी चल कर के महलों की होली
मैं हूं चरणों की दासी तिहारी
अब होली होगी हमारी तुम्हारी

बाहर आ जाओ बांके बिहारी
होली होगी हमारी तुम्हारी

Regards -Lalit Gera (SLG)
श्रेणी
download bhajan lyrics (82 downloads)