जय जय जगजनी माँ

सरस सुपावन शक्ति हे ...तेजोमयी  अपार
हे आनंद स्वरूपणी....मम  हृदय कर उज्जियार
जय माँ .....जय माँ ....

अराधन तेरा करूं ...निशदिन ,आठों याम
घट अंतर शक्ति जगे ...गाऊं तब शुभ नाम
जय माँ .....जय माँ ....

पत्तित-पावनी मात हे ....बालक शरण तिहार
मंगलमय  वरदान दे ..यही विनती बारम्बार ..
जय माँ .....जय माँ ..
download bhajan lyrics (191 downloads)