श्री श्याम श्री श्याम गाने लगा हु

जब से खाटू जाने लगा हु सँवारे को चाहने लगा हु,
श्री श्याम श्री श्याम गाने लगा हु,

नास्तिक था मैं बाबा कभी कुछ न माँगा,
है हारे का सहारा ये खाटू आके जाना,
मैं तेरे चरणों में आके गम अपने भुलाने लगा हु,
श्री श्याम श्री श्याम गाने लगा हु,

ये सारी दुनिया मुझे चाहे कुछ भी बोले,
पर मेरा मन श्याम धनि तेरी शरण में डोले,
मेरी तुझसे प्रीत लगी ऐसी हर ग्यारस को आने लगा हु,
श्री श्याम श्री श्याम गाने लगा हु,

तेरी संवाली सूरत पे मैं दीवाना हो गया,
तेरी खाटू जी की गलियों में दिल मेरा खो गया,
दिलप्रीत पे तेरी दया हु जो तेरे भजन बनाने लगा हु,
श्री श्याम श्री श्याम गाने लगा हु,
download bhajan lyrics (10 downloads)