पिंगा झुटे दाती कंजका नाल

पिंगा झुटे दाती कंजका नाल खेड़े गीटीया ,
सिर उते लाल चुनी कना विच झुमके,
मथे बिंदी लाल कंजका नाल खेड़े गीटीया

लाल पाया लेहंगा माँ दे हाथा विच चूड़ियां
गल फुला दी माल मात कंजका नाल खेड़े गीटीया

छोटे छोटे पैरा विच चांदी दियां झांजरा,
हथि मेहँदी लाल मात कंजका नाल खेड़े गीटीया

दिख गया रूप माँ दा किना प्यारा लगदा,
बिना बोले दाती दुःख कटे सारे जग दा .
करदी मला माल कंजका नाल खेड़े गीटीया