भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो

भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,
भात सवेरे लईयो रे भईया,
है मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

मेरे माथे का टिका लईयो टीके पे रत्न चढ़ाइयो ,
लईयो सोने की जंजीर भात सवेरे लईयो रे भईया,
अरे मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

मेरी कमर की तकदी लईयो,मुठी पे रत्न झाड़ियों
लईयो सोने की जंजीर भात सवेरे लईयो रे भईया,
अरे मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

भैया कानो के कुण्डल लईयो झुमकी पे रत्न जड़ाईयो,
लईयो सोने की जंजीर भात सवेरे लईयो रे भईया,
अरे मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

भईया हाथो के चूड़ी लईयो कंगन में रत्न जड़ाईयो,
लईयो घने की जंजीर भात सवेरे लईयो रे भईया,
अरे मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

मेरे पैरो की पायल लईयो बिछुए पे रत्न जड़ाईयो,
लईयो सोने की जंजीर भात सवेरे लईयो रे भईया,
अरे मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

मेरी चुनरी साडी लईयो और सब का मान बडियो,
लईयो सोने की जंजीर भात सवेरे लईयो रे भईया,
अरे मेरे भईयाँ रघुवीर भात सवीरे लईयो,

श्रेणी
download bhajan lyrics (86 downloads)