अब न चराऊ तेरी गईया यशोदा मैया

अब न चराऊ तेरी गईया यशोदा मैया,

घास सुख गई तेरे मधुवन की,
पत्झग हुई छाइआ कदमन की,
सूखे है ताल तलाइयाँ यशोदा मैया,
अब न चराऊ तेरी गईया यशोदा मैया,

ब्रिज की गोपी मोहे सतावे,
घर ले जाइके नाच नचावे,
नाचू मैं ता ता थैया यशोदा मैया,
अब न चराऊ तेरी गईया यशोदा मैया,

तू भी आके लाड लड़ावे,
कँउवा कह के मोहे बुलावे,
यु बलदाऊ भाइयाँ यशोदा मैया,
अब न चराऊ तेरी गईया यशोदा मैया,

भरमा अधिक जाको पार ना पावे ,
राम किषन मैया को रिजावे,
नटखट कृष्ण कहनियाँ यशोदा मियां,
अब न चराऊ तेरी गईया यशोदा मैया,
श्रेणी