सतगुरु मिलता जावो जी

दर्शन देता जावो जी
सतगुरु मिलता जावो जी
म्हारे पिवरिया री बातां थोड़ी म्हने केहता जावो जी

सोने जेडी पिली पड़ गई
दुनिया बतावे रोग
रोग दोग म्हारे कई नी लागे
गुरु मिलण रो जोग

म्हारे भाभे म्हने बींद बतायो
पकड़ बताई बाँह
कांई कहो में कांई न समझू
जिव भजन रे माय

म्हारे देश रा लोग भला है
पेहरे कंठी माला
म्हारा लागे वे भाई भतीजा
राणाजी रा साला

सासरियो संसार छोडियो
पीव ही लागे प्यारो
बाई मीरा ने गिरधर मिलिया
चरण कमल लिपटायो
download bhajan lyrics (105 downloads)