चल भगता वे चल तू भी जाके मैया जी दा दर्शन पा

मैया दे दवारे उते संगता ने चलिया,
सब ने दर दियां रावा आज मलियाँ,
फोटोवा भी झण्ड़ेया उते लइयाँ ने सजा,
चल भगता वे चल तू भी जाके मैया जी दा दर्शन पा,

शरधा दे फूल माँ दे चरनी चडाउंदे आ,
संगता दे नाल जैकारे ओहदे लाउंदे आ,
दुनिया तो ऊंचा मेरी मैया जी दा ना,
चल भगता वे चल तू भी जाके मैया जी दा दर्शन पा,

दर उते जाके कई चौंकियाँ लगाउँदै ने,
पाके मुरादा कई फुले न समाउँदै ने.
चरना च झुक ते मुरादा तू भी पा,
चल भगता वे चल तू भी जाके मैया जी दा दर्शन पा,

नैना दी प्यास तेरी बुज जानी सारी आ,
करने दीदार जदो सोनू कोकोवारी आ,
अरविन्द चरना विच रहा महिमा गा,
चल भगता वे चल तू भी जाके मैया जी दा दर्शन पा,