तेरी नौकरी मैं साई सरकार मंगदा

ना ही कोठरी ते ना ही कार मंगदा,
तेरी नौकरी मैं साई सरकार मंगदा,

वसता तनु मेरा बाबा सुते लेख जगा दे,
अपने दर दी नौकरी दे के जिंगदी नु रंग ला दे,
दिन जिंगदी मैं चंगे चार मंगदा,
तेरी नौकरी मैं साई सरकार मंगदा,

जिहने आन गुलाम विच आपने नाम लिखवा,
जिहने तेरी नौकरी किती ओहने ही सुख पाया,
खड़ा होके मैं वेहड़े विचकार मंगदा,
आके मैं तेरे दरबार मंगदा,
तेरी नौकरी मैं साई सरकार मंगदा,

तेरे दर दी नौकरी मिल जाए होर की रब तो लेना,
अपने दिल दा हाल मैं बाबा तनु दसदे रहना,
झोली अड़ मैं तेथो हर वार मंगदा,
तेरी नौकरी मैं साई सरकार मंगदा,

अपने कदमा को बाबा ना मैनु हटावी,
तेरे नाम बहारा साइयाँ मैनु छड़ न जावी
लगी रवे सदा बहार मंगदा,
तेरी नौकरी मैं साई सरकार मंगदा,
श्रेणी