माँ मेरा मन बोल्दा मैं आवा तेरे कोल

ठन्डे कुए दा ठन्डा पानी भर भर पींदे लोक,
माँ मेरा मन बोल्दा मैं आवा तेरे कोल,

मंदिर तेरे माँ ज्योति जग दियां दर्शन करदे लोक,
माँ मेरा मन बोल्दा मैं आवा तेरे कोल,

भगत तेरे माँ भेटा गाउँदे छम छम नच्दे लोक,
माँ मेरा मन बोल्दा मैं आवा तेरे कोल,

मंदिर तेरे माँ शेर ने गज दे पेहला पाउंदे मोर,
माँ मेरा मन बोल्दा मैं आवा तेरे कोल,

मंदिर तेरे माँ मेले लगदे दुरो दुरो आउंदे लोक,
माँ मेरा मन बोल्दा मैं आवा तेरे कोल,