फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां

फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां,
आ जा ना मेरी दादी माँ उत्सव जो आ गया,
फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां,

नथनी पाएनाउंगी तुझे चुनड़ी उडाऊगी,
छम छम बजी जो पाइयले मन को लुभा गया,
आ जा ना मेरी दादी माँ उत्सव जो आ गया,
फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां,

चूड़ा पहनाऊगी तुझे मेहँदी लगाऊ गी,
मेहँदी रची जो हाथ में जादू सा छा गया,
आ जा ना मेरी दादी माँ उत्सव जो आ गया,
फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां,

सजधज के देखो आ गई कर सोलह शृंगार,
सूरज सा तेज दादी के मुखड़े पे छा गया
आ जा ना मेरी दादी माँ उत्सव जो आ गया,
फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां,

झूले पे बैठो दादी जी झूला झुलाउ गी,
ममता भरा हाथ तूने जो सिर पे फिर दिया,
आ जा ना मेरी दादी माँ उत्सव जो आ गया,
फूलो से राज रानी का झूला सजा दियां,