दाती होर दे होर दे कही जांदे हाँ

दाती होर दे होर दे कही जांदे हाँ
तुस्सी दई जांदे हो, अस्सी लई जांदे हाँ

साडी तृष्णा दा अंत कदे आया ही नहीं
झूठे जग विच सुख कदे पाया ही नहीं
तेरे चरना विच बैठ सुख लई जांदे हाँ
दाती........

जो वी दर तेरे आया वो निहाल हो गया
सोहना करके ओ दर्शन मालोमाल हो गया
लोकी मारदे ने ताने असी सहे जाने हाँ
तुस्सी दई जांदे हो, अस्सी लई जांदे हाँ
दाती.........

सारी दुनिया नू छड दर तेरे आ गए
प्रेम भक्ति दा धन तेरे कोलों पा गए
तुस्सी सुनी जांदे हो असी कहे जाने हाँ
तुस्सी दई जांदे हो, अस्सी लई जांदे हाँ
दाती.........

तेरे दर जहि मौज किथे लभ्दी नहीं
मेरे मन दी प्यास कदे बुझदी नहीं
तेरे नैना दे प्यालायाँ तो पीती जांदे हाँ
तुस्सी दई जांदे हो, अस्सी लई जांदे हाँ
दाती..........
download bhajan lyrics (13 downloads)