आओ चलो चलते संतोषी के धाम में

आओ चलों चलते संतोषी के धाम में,
यात्रा को चलते हम सब संतोषी के धाम में,
याहा बनते सब के काम रे,
मेरी माता बनाती सब के काम रे,
दुखड़ो की गठरी बना के,
कंधो में अपने सजा के संतोषी माँ नाम लेके मैया के दर्शन को जाने,
मन में संतोष पाए संतोषी नाम में,
चलो चलते है मैया जी के धाम में,

आओ चलो चले जोधपुर में प्रगत हुए माँ यहाँ पे देखो पर्वतों के निचे,
पग चिह्नों को दिए बनाये हम सब चल कर दर्शन पाए,
भगतो को माँ अपने और खिचे.
माँ उनके भाग जगाए जो मैया जी को ध्याये,
मन में विश्वाश लिए मैया जी के नाम में,
चलो चलते है मैया जी के धाम में,

आओ चलो चलके घुना धाम में प्रगत हुई माँ यह पे देखो घर के अन्दर,
जन जन की माई देखो बनी सहाई,
देवी माँ संतोषी माई वो तो है ममता का समन्दर,
चलो इक अरदास लगाये मैयां के गुण को  गाये,
गुण वाली संतोषी के गुण है हजारो में,
चलो चलते है मैया जी के धाम में,

आओ चलो चलते उजैन में बेठी भवानी धाम बनाये इको मंदिर में,
मुंबई में माँ आप विराजी भगतो की भगती में राजी करो उनको अपने अधीन में,
सपनो को सफल बनाए जो माँ का दर्शन पाए,
संतोष भावरा को हर इक काम में,
चलो चलते है मैया जी के धाम में,

आओ चलो चलके दिलली धाम में बेठी रानी चोंकी लगाये भगतो के बीच माँ,
जन जन की माँ चिंता हरती संतोषी संतोष है भरती भगतो को खुशियों के दे दे बीज माँ,
सब की होती सुनवाई मियाँ सबकी है सहाई शंकर को माँ रखलो अपने गुलाम में,
चलो चलते है मैया जी के धाम में,
download bhajan lyrics (21 downloads)