शिव नाथ मेरा गोरा नू वयोंन चलेया

कौन चलेया जी कौन चलेया,
शिव नाथ मेरा गोरा न वयोंन चलेया,
सजे भूत ते प्रेत वेखो वैखरी जनेत,
आज वखरा ही रूप दिखाऊं चेल्या,
कौन चलेया जी कौन चलेया,
शिव नाथ मेरा गोरा नू वयोंन चलेया

पिंड उते बसम रमा ली स्पा दी गल माला पा ली,
नाही सेहरा ओहने लाया मथे चंद है चढ़ाया रूप वखरा ही सब न वखाऊं चलेया,
कौन चलेया जी कौन चलेया,
शिव नाथ मेरा गोरा नू वयोंन चलेया

देवी देवते फूल बरसौंदे भुत चुड़ेला भंगड़े पाउंदे,
लगी रौनक बरंगी आगे होके नाचे नंदी बेंड बाजे दी तना ते यह बजाऊं चलेया,
कौन चलेया जी कौन चलेया,
शिव नाथ मेरा गोरा नू वयोंन चलेया,

सारा जग दा पालनहारा गाउँदा है संजीव सितारा,
कैलाश दा है वासी कटे सब दी चौरासी जेहड़ा गोरजा नू आज व्याओं चलेया,
कौन चलेया जी कौन चलेया,
शिव नाथ मेरा गोरा नू वयोंन चलेया,
श्रेणी
download bhajan lyrics (19 downloads)