मंदिरा च ढोल वजे मेरा जी नचन नु करदा

मेला लगेया सोहन महीने मेले च मीह पीया वरदा,
मंदिरा च ढोल वजे मेरा जी नचन नु करदा,

माँ नु आके देवो वधाईयां दुरो दुरो संगता ने ाईयां
नच नच सारे खुशियां मनाउंदे हर कोई चौंकी भरदा,
मंदिरा च ढोल वजे मेरा जी नचन नु करदा,

आजो आजो झोलियाँ भरलो भोली माँ दे दर्शन करलो ,
शेरसवारी माँ दी प्यारी शेर जदो भी गज दा,
मंदिरा च ढोल वजे मेरा जी नचन नु करदा,

लकी राजा भेटा गावे जग्गी महिमा लिखदे जावे,
श्याम दाती दे खेड़ निराले नौकर बन जा दर दा,
मंदिरा च ढोल वजे मेरा जी नचन नु करदा,

download bhajan lyrics (119 downloads)