राधा एकम राधा राधा दुनि श्याम

राधा एकम राधा राधा दुनि श्याम
सारा ब्रज धाम राधा श्याम का गुलाम

राधा तिया जमुना की पवन ये धारा
जिसके तीरे होता था प्रेम का नज़ारा
राधा रानी सुन्दर रूप ललाल
सांवरा सलोना बड़ा है घनश्याम
राधा एकम राधा........

राधा चौकी माधव की मुरली सुहानी
गैया दीवानी जिसकी गोपिया दीवानी
मन में लिखे दो सुन्दर नाम
एक तरफ राधा एक तरफ श्याम
राधा एकम राधा.........

राधा पंजे ब्रज की नराली ये होली
श्याम संग खेले जिसे गोपियों की टोली
मथुरा है ये बड़ा मंगल धाम
यहाँ कण कण बसे है राधे श्याम
राधा एकम राधा..........


श्रेणी
download bhajan lyrics (170 downloads)