बावा लाल प्यारे दा सहारा चाहिदा

बावा लाल प्यारे दा सहारा चाहिदा,
भूखी भूखी जींद ले गुजरा चाहिदा,

इक तेरे चरना दी धूल चाहिदी,
इक तेरे नूर दे नजारा चाहिदा,
भूखी भूखी जींद ले गुजरा चाहिदा,

लाल तेरे दर दी देहलीज दी है लोड,
इक तेरी दीद दा द्वारा चाहिदा,
भूखी भूखी जींद ले गुजरा चाहिदा,

मिलेगी जरूर साहनु मंजिला दी लोड,
साहनु तेरा रता को इशारा चाहिदा
भूखी भूखी जींद ले गुजरा चाहिदा,

जिंदगी दी पींग भावे चढ़े न चढ़े ,
साहनु तेरे प्यार दा हुलारे चाहिदा,
भूखी भूखी जींद ले गुजरा चाहिदा,