भोले ख़याल राखिये मेरे इन फौजी भाइयाँ का

भोले ख़याल राखिये मेरे इन फौजी भाइयाँ का,
लड़े जो मेरे देश की खातिर वीर सपाइयाँ का,
भोले ख़याल राखिये मेरे इन फौजी भाइयाँ का,

रात रात भर जाग जाग कर करे है पहरे धारी सी,
अपनी जान की ला के बाजी करे रक्षा माहरी से,
पीठ पे दुश्मन वार करे से फिर भी पड़ जाये भारी से
भोले साथ निभाइये फ़र्ज़ के सच्चे राहिया का,
भोले ख़याल राखिये मेरे इन फौजी भाइयाँ का,

छाती तान के खड़े रहे चले तूफानी रेट में,
अपने खून की नदी भा दे बॉर्डर के उस खेत में,
जन्मी माँ को नमन महारा जिहने जन्मे शेर ये देश के,
ना दर लागे भोले इन ने मौत की खाइयां का,
भोले ख़याल राखिये मेरे इन फौजी भाइयाँ का,

मेरे देश का मान बढ़ावे कड़े भी शीश झुकावे ना,
अंत सांस तक लगे लड़ाई कदे खाली आवे ना,
दुश्मन का सीना कर छली ये पीठ दिखावे न,
तिरंगा ऊचा राखिये हो फैन ये उची हवावियां का,
भोले ख़याल राखिये मेरे इन फौजी भाइयाँ का,
श्रेणी