शिव मोहे अपनी भस्म बना लो

शिव मोहे अपनी भस्म बना लो,
बसम बना कर तन पे रमा लो

है इस जग के रिश्ते झूठे इनके भवर से मोहे निकालो,
शिव मोहे अपनी भस्म बना लो,

भूल छमा मेरी करदो हे भोले और परीक्षा अब मेरी ना लो,
शिव मोहे अपनी भस्म बना लो,

तुमसे मिलन की राह यही है,तुम इस राह की राह निकालो,
शिव मोहे अपनी भस्म बना लो,

काट दो चौरासी के बंधन,
अपने अनूप की बात ना टालो,
शिव मोहे अपनी भस्म बना लो,
श्रेणी
download bhajan lyrics (542 downloads)