छोड़ सिंहासन दौड़ा आया

छोड़ सिंहासन दौड़ा आया मेरा बाबा श्याम
काम किया मेरे सांवरिया ने हो गया मेरा नाम...

चिंता जब कोई मुझे सतावे श्याम नाम का भजन किया
महामंत्र का जाप प्रभु मैंने-मन में होकर मगन किया
लखदातारी थारे नाम से दिल को मिले आराम....
   
वचन दिया जो मोरवी मां को- आज भी उसे निभाता है
मेरे में दुख लीले चढ़कर पल में दौड़ आता है
हारे का साथी बन आया खाटू वाला श्याम....

तीन बाण से मेरा सांवरिया भक्तों के भंडार भरे
पहले बाण से पाप हरे हैं दूजे से सुख दान करें
तीजे बाण से भक्ति देवे- प्रिंस को ये घनश्याम....

Singer & Lyrics By
Prince Jain
Mob.7840820050 ; 7011046527
download bhajan lyrics (19 downloads)